‘बिंदास बोल’ – कहानी

बिंदास बोल ‘स्पष्ट, बिंदास बोलने वाला ये लड़का बहुत आगे जाएगा! इसका आत्मविश्वास और ईमानदारी ही इसे इतना निडर बनाते…

Continue Reading →

राज़ी – फ़िल्म

राज़ी – मेरी नज़र में राज़ी देखने को दिल राज़ी हुआ। होना ही था, जीवन की चुनौतियों को जीतती असल…

Continue Reading →

“नेताजी” – कहानी

नेताजी “कृष्णा, मुझे कुछ तो समय दो… तुम जानती हो, मेरे घर के हालात! अभी मैं शादी कैसे कर सकता…

Continue Reading →

कर्णाटक चुनाव – राजनीति में भरोसा

भरोसा और राजनीति पूरा इतिहास भरोसा तोड़ने वालों से भरा पड़ा है। राजनीतिक इतिहास भी, सामाजिक इतिहास भी, और व्यक्तिगत…

Continue Reading →

Mothers’ Day Special- Short Story

लड़की उसकी काली बड़ी आँखें अब गहराई में समा गयी थीं। आँखों के चारों ओर बने काले घेरे न जाने…

Continue Reading →

नशा… कितना मज़ा!

युवा होते मन को अक्सर नशे की लत लग जाती है। कुछ तो अपने दोस्तों, संगी-साथियों के साथ नशे की…

Continue Reading →

दयाल सिंह कॉलेज-विवाद

बस विवाद? कभी-कभी महसूस होता है जैसे कुछ लोग केवल विवाद खड़े करने के लिए और फिर उन्हीं विवादों के…

Continue Reading →